मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार

स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग

जवाहर नवोदय विद्यालय, पपरोला

                जवाहर नवोदय विद्यालय, पपरोला, जिला कांगड़ा, हिमाचल प्रदेश एनपीई - 1986, के अनुसार 1987 में स्थापित किया गया था |

जवाहर नवोदय विद्यालय पपरोला पूरी तरह आवासीय और सह - शिक्षा विद्यालय है | यह केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सी. बी. एस. ई.), नई दिल्ली से संबद्ध है और यहां 12वीं कक्षा तक कक्षाएं चल रही है |

यह कांगड़ा जिले में गांव पपरोला में स्थित है जो जिला मुख्यालय से 50 किलोमीटर दूर है |

और पढ़ें

नवोदय विद्यालय समिति के उद्देश्य

  1.     संस्कृति मूल्यों की शिक्षा, पर्यावरण के प्रति जागरूकता और मुख्य रूप से ग्रामीण क्षेत्रों से प्रतिभावान बच्चों को शारीरिक शिक्षा सहित उच्च गुणवत्ता युक्त आधुनिक शिक्षा प्रदान करना |

  2.     छात्रों को तीन भाषाओं में योग्यता प्रदान करना |

  3.     राष्ट्रीय एकता को बढावा देने के लिए हम हिन्दी से गैर - हिन्दी भाषी राज्यों में छात्रों का स्थान्तरण करते हैं |

  4.     अनुभवों और सुविधाओं के माध्यम से स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता के सुधार के लिए प्रत्येक जिले में नवोदय विद्यालय की स्थापना |

 

नवोदय विद्यालय की विशेषताएं

  1.     छात्रों का चयन प्रवेश परीक्षा के माध्यम से छठी एवम नवीं कक्षा में किया जाता है |

  2.   उत्कृष्ट गुणवत्ता के साथ आधुनिक शिक्षा प्रदान करना|

  3.   छात्रों को नि:शुल्क आवास और भोजन |

  4.   मूल्यों और पर्यावरण के प्रति जागरूकता पैदा करना|

  5.   आधुनिक तकनीक की मदद से अध्ययन |

  6.   स्थान्तरण के माध्यम से राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा देना |

और पढ़ें